HINDI KAVITA

Wakt

wakt

कभी सोचा ना था, ऐसा वक़्त भी आयेगा प्यारे दोस्तों से मिलने से भी मन कतरायेगा,मां-बाप अपनी बेटी को पीहर आने न देंगे,सास-ससुर बहू को घर से बाहर जाने ‌न देंगे,छुट्टी मेड के लिए भी दरवाजा खुल न पायेगा,कभी सोचा ना था.. ऐसा वक़्त भी आयेगा ! मां बोले – फोन पर बातें करती रहना,वीडियो …